कोरोना के चलते शिक्षा के साथ – साथ ऑनलाइन परीक्षा की भी तैयारी

ACB7 ब्यूरो : कोरोना के चलते देश में लॉकडाउन की जो स्थिति है, उसे देखते हुए सरकार ने छात्रों को घर बैठे आनलाइन पढ़ाने के साथ ही अब आनलाइन परीक्षा कराने की दिशा में कदम बढ़ाया है। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने शनिवार को इसे लेकर इंदिरा राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) के कुलपति की अगुवाई में एक कमेटी गठित करने का ऐलान किया है। साथ ही आनलाइन शिक्षा और आनलाइन परीक्षा कराने से जुड़े सुझाव जल्द देने को कहा है।

निशंक शनिवार को देश भर के केंद्रीय विश्वविद्यालयों के कुलपतियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोरोना से जुड़ी तैयारियों को लेकर बात कर रहे थे। इस दौरान कोरोना के चलते नए शैक्षणिक सत्र के शुरू होने में देरी को देखते हुए सभी कुलपतियों से छात्रों की आनलाइन पढ़ाई शुरु कराने के निर्देश दिए है। साथ ही यूजीसी की अगुवाई में एक नया एकेडेमिक कैलेंडर तैयार करने का भी सुझाव दिया। जिसमें कम समय में छात्रों का कोर्स पूरा कराया जा सके, ताकि सत्र में विलंब न हो। उन्होंने इसे लेकर यूजीसी की अगुवाई में एक कमेटी गठित करने के भी निर्देश दिए।

एचआरडी मंत्री ने कहा- कोरोना से लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार रहें विश्वविद्यालय

इस बीच उन्होंने सभी विश्वविद्यालयों से कोरोना के किसी भी संदिग्ध की तुरंत जांच कराए जाने के भी निर्देश दिए है। इस बीच अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के कुलपतियों ने अपने यहां कोरोना से निपटने के लिए 40 बिस्तर वाले कोरेनटीन कक्षों को तैयार करने की भी जानकारी दी। हालांकि इस पर केंद्रीय मंत्री ने दोनों ही संस्थानों से अपने चलाए जा रहे अस्पताओं को भी कोरोना से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार रखने के निर्देश दिए। साथ ही छात्रों, शिक्षकों की खास ख्याल रखने के भी निर्देश दिए।

पांच अप्रैल को रात्रि नौ बजे नौ मिनट के लिए घरों की सभी लाइटें बंद करके जलाएं दीया

केंद्रीय मंत्री ने इस दौरान कुलपतियों से प्रधानमंत्री के पांच अप्रैल को रात्रि नौ बजे नौ मिनट तक के लिए घरों की सभी लाइटों को बंद करके बालकनी में खड़े होकर दीया, मोमबत्ती, टार्च लाइट आदि जलाने के अनुरोध में सभी से बढ़-चढ़कर शामिल होने की अपील की। साथ ही छात्रों को भी इसके लिए प्रोत्साहित करने को कहा।

बीएचयू के कुलपति को मंत्री ने लगाई जमकर फटकार

कोरोना काल में अपने विश्वविद्यालय को छोड़कर दिल्ली में बैठे बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो राकेश भटनागर को जमकर फटकार लगाई। दरअसल शनिवार की वीडियो कांफ्रेसिंग में मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक सभी कुलपतियों से अपील कर रहे थे कि छात्रावासों में रह रहे बच्चों का ख्याल रखें। छात्रावासों में अभी रह रहे बच्चों के बारे में जानकारी ली जा रही थी कि किस राज्य के कितने बच्चे हैं और कितने विदेशी। चर्चा के दौरान निशंक अचानक ही भटनागर से पूछ बैठे कि वह अभी कहां है? वीसी ने बताया कि वह अभी दिल्ली में है। इस पर मंत्री ने फिर पूछा-कब से है। इस पर उन्होंने लॉकडाउन से पहले से ही दिल्ली में मौजूद होने की बात कही। इसके बाद मंत्री जी भड़क गए। बताया जाता है कि उन्होंने कहा कि कुलपति की जिम्मेदारी नहीं है कि वह ऐसे वक्त में अपने विश्वविद्यालय में रहें। यह बहुत ही गैर-जिम्मेदाराना व्यवहार है।

नोट : ताजातरीन ख़बरों के लिए अभी फॉलो करे , करे NEWSACB7.COM फेसबुक इंस्टाग्राम ट्विटर और यूट्यूब 

Leave a Reply

%d bloggers like this: