धनौरा सिल्वरनगर में गौशाला का डीएम ने किया निरीक्षण, गौशाला की अव्यवस्था पर जताई नाराजगी, कोरोना संक्रमण से बचाव को लोगों को किया जागरूक

लखनऊ (नसीम कुरैशी)। उत्तर प्रदेश के जनपद बागपत की डीएम शकुन्तला गौतम ने आज गुरुवार के दिन गांव धनौरा सिल्वर नगर की अस्थाई गौशाला का औचक निरीक्षण किया। जिलाधिकारी को अस्थाई गौशाला में गंदगी मिली। जिस पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि तत्काल गौशाला की साफ सफाई हो जानी चाहिए और बरसात की वजह से जो दलदल नजर आ रहा है। यह भी तत्काल ठीक कराया जाए। धनौरा सिल्वर नगर की गौशाला में 155 पशु हैं। जिसमें से 40 पशुओं की टैगिंग ना होने पर उन्होंने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी पर नाराजगी व्यक्त की और तत्काल 40 पशुओं की टेगिग करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पशुओं का टीकाकरण आदि समय से हो जाना चाहिए। जिलाधिकारी ने गौशाला में टीन शेड बढ़ाए जाने के भी निर्देश दिए। गौशाला में जिलाधिकारी को निरीक्षण के दौरान सूखा चारा, हरा चारा, खल व चौकर आदि की पर्याप्त व्यवस्था मिली। जिलाधिकारी ने रजिस्टर का भी अवलोकन किया। जिलाधिकारी ने डीपीआरओ को निर्देशित किया कि वे ग्राम प्रधान को निलंबित कर समिति गठित करें। इनके द्वारा गौशाला में लापरवाही बरती गई है। गौशाला के कार्य को गंभीरता से नहीं लिया गया है। जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों को कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण के बचाव से जागरूक किया। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से बचने के लिए सभी लोग अनावश्यक रूप से घर से बाहर ना निकलें। अगर घर से निकलें तो मास्क, गमछा व रुमाल अवश्य लगाएं तथा अपने हाथों को सेनेटाइज करते रहें। हाथों को साबुन से धोते रहें तथा 2 गज की दूरी अवश्य मेंटेन करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी हुबलाल, जिला पंचायत राज अधिकारी कुमार अमरेंद्र, खंड विकास अधिकारी बागपत स्मृति अवस्थी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर खुशीराम व ग्राम प्रधान रेखा रानी आदि उपस्थित रहे .

Leave a Reply

%d bloggers like this: