भारतीय किसान यूनियन अंबावता के समस्त पदाधिकारियों ने गाजीपुर बॉर्डर पर होली ना मना कर सरकार के खिलाफ बनाई रणनीति।

भारतीय किसान यूनियन अंबावता के समस्त पदाधिकारियों ने गाजीपुर बॉर्डर पर होली ना मना कर सरकार के खिलाफ बनाई रणनीति।
———————–
आजादी के इतिहास में पहली बार किसान और मजदूर खून के आंसू रो रहा है।

चौधरी ऋषि पाल अंबावता राष्ट्रीय अध्यक्ष भाकियू अ

आज भारतीय किसान यूनियन के समस्त पदाधिकारी अपने होली जैसे पावन पर्व पर घर बार छोड़कर गाजीपुर बॉर्डर पर जमा हुए और सरकार के खिलाफ चलाए जा रहे आंदोलन को लेकर अपनी रणनीति पर विचार विमर्श किया संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ऋषि पाल अंबावता
जीने इस अवसर पर कहा की आजादी के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि किसान और मजदूर के सामने अपनी आजीविका का संकट गहरा गया है और उसे कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा कोरना काल में उससे छिन गया रोजगार अभी तक उसको वापस नहीं मिला ऐसी सूरत में उसके सामने बच्चों की शिक्षा और अपनी आजीविका चलाने का घोर संकट पैदा हो गया है 4 महीने से चला यह किसान आंदोलन 300 से अधिक किसानों को असमय मृत्यु की आगोश में पहुंचा चुका है उसके पीछे रुदन करता हुआ उसके परिवार की दशा कठोर हृदय को भी पिघला देगी ।
किंतु यह अंधी और बहरी सरकार केवल पूजी पतियों के हित के लिए काम कर रही है मजदूर और किसान की समस्या को लेकर सरकार के पास कोई विकल्प नहीं है।
उन्होंने आगे कहा कि जिस प्रकार यह जनविरोधी सरकार बहुत तेजी के साथ सार्वजनिक उपक्रमों को यह कहकर प्राइवेट कर रही हैं कि यह संस्था गैर-लाभकारी हो गई है अगर यह संस्था और उपक्रम गैर-लाभकारी हुए हैं तो इनके पीछे सरकार की गलत नीति और योजना रही हैं आने वाले समय में देश की लगभग 80 करोड़ जनता के सामने एक ही विकल्प बचा है कि वह या तो बीमारी से या फिर आत्महत्या से खुद को खत्म करने की स्थिति में होगा क्योंकि देश में पहले से ही बेरोजगारी की स्थिति चरम पर थी वर्तमान में सरकार की गलत नीतियों और योजनाओं ने उसको बेकाबू कर दिया है।
राष्ट्रीय अध्यक्ष जी ने आह्वान किया कि किसान और मजदूर के सामने केवल यही विकल्प है कि पूरे देश का किसान मजदूर एकजुट होकर सरकार के खिलाफ आंदोलन में अपनी भूमिका तय करें और इस सरकार को केंद्र से हटाकर अपने अंजाम तक पहुंचाने का शुभ कार्य करे।
राष्ट्रीय अध्यक्ष जी ने संगठन के सभी पदाधिकारियों से कहा कि आप गांव गांव जाकर किसानों को और मजदूरों को संगठन में जोड़ने और आंदोलन को तेज करने के लिए जागरूक करें।
इस मौके पर (प्रदेश अध्यक्ष) पं. सचिन शर्मा ने सभी क्षेत्रवासियों को व भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों को मजदूर भाइयों को होली की बधाई दी और आह्वान किया कि आज होलिका दहन के इस अवसर पर केंद्र सरकार के द्वारा लाए गए तीनों किसान विरोधी कानूनों की प्रतियां को होली में जलाया जाएगा

इस अवसर पर रामपाल अंबावता सचिन शर्मा महेंद्र राणा बलविंदर बाजवा राजवीर सोलंकी दलबीर सिंह प्रवीण शर्मा नीटू मट्टू बलविंदर सिंह पाला राम चौधरी अजीत सिंह अजब सिंह कुलबीर दहिया विद्या प्रसाद उत्तम सिंह अमित कसाना बिन्नू अदाना प्रभु नागर नरेंद्र भाटी संजय कसाना नासिर प्रधान ब्रह्म सिंह आधाना चौधरी नेपाल सिंह सतीश शर्मा भगत जी सौरव सेन आदर्श राठी जुबेर भाटी नासिर प्रधान आदि सैकड़ों किसान उपस्थिति रहे

पं. सचिन शर्मा
(प्रदेश अध्यक्ष)
भारतीय किसान यूनियन( अ)

Total Page Visits: 154 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: