मेरठ के अब्दुल्लापुर में अनस नामक मुस्लिम युवक के द्वारा कांती प्रसाद नामक मंदिर के पुजारी पर तिलक और गले मे भगवा गमछे को देखकर अभद्र टिप्पणी की

 

उत्तर प्रदेश : मेरठ के अब्दुल्लापुर में अनस नामक मुस्लिम युवक के द्वारा कांती प्रसाद नामक मंदिर के पुजारी पर तिलक और गले मे भगवा गमछे को देखकर अभद्र टिप्पणी की तथा मारपीट की जिसके कारण कांती प्रसाद की मृत्यु हो गई। पुलिस प्रशासन के द्वारा इस घटना को दबाने का प्रयास किया जा रहा था तथा अनस के साथ इस घटना में संलिप्त नदीम को बचाने  

का परियास किया जा रहा हैथा | घटना की जानकारी मिलने पर भाजपा नेता गोपाल शर्मा व बलराज डूंगर अपने कार्यकर्ताओं के साथ अब्दुल्लापुर पहुंचे और कांती प्रसाद का शव सड़क पर रखकर प्रदर्शन किया तथा प्रशासन से दो मांगे की पहली अनस के साथ इस घटना में संलिप्त नदीम नामक व्यक्ति पर मुकदमा दर्ज हो तथा उसकी गिरफ्तारी हो, दूसरी पुजारी कांती प्रसाद के परिवार को 25 लाख की सहायता राशि मिले। 13 जुलाई को अब्दुल्लापुर निवासी अनस ने मंदिर के पुजारी कांती प्रसाद के माथे पर लगे तिलक और गले में पड़े भगवा गमछे को देखकर अभद्र टिप्पणी की जब कांती प्रसाद ने विरोध किया तो अनस ने पुजारी कांती प्रसाद की जमकर पिटाई की जिसके कारण कांती प्रसाद की मृत्यु हो गई। इस घटना के बाद नदीम नामक व्यक्ति कांती प्रसाद के घर में जाकर परिजनों को थाने में शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी।

पुलिस प्रशासन के द्वारा इस घटना को हल्के में ही निपटाया जा रहा था तथा नदीम को बचाया जा रहा था लेकिन अब्दुल्लापुर निवासियों व कार्यकर्ताओं के द्वारा भाजपा नेता गोपाल शर्मा को पूरी घटना की जानकारी दी गई तब भाजपा नेता गोपाल शर्मा व बलराज डूंगर अपने कार्यकर्ताओं के साथ अब्दुल्लापुर पहुंचे तथा कांती प्रसाद का शव सड़क पर रखकर प्रदर्शन किया और प्रशासन के सामने दो मांगे रखी पहली अनस के सहयोगी नदीम पर मुकदमा दर्ज हो तथा उसकी गिरफ्तारी हो, दूसरी कांती प्रसाद के परिजनों को 25 लाख की सहायता राशि दी जाए,

भी मौके पर कैंट विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल भी आ गए और उन्होंने भी यही मांगे पूरी करने के लिए प्रशासन से कहा तथा कांती प्रसाद के परिवार को मुख्यमंत्री के द्वारा सहायता राशि के विषय पर भी बात करने के लिए आश्वासन दिया, वहां मौजूद ग्रामीणों के द्वारा थाना भावनपुर अध्यक्ष संजय कुमार की काफी शिकायत की गई तथा बताया गया की थाना भावनपुर क्षेत्र में निरंतर गोकशी की शिकायतें आती रहती हैं, ग्रामीणों की बात सुनकर कैंट विधायक ने तुरंत थाना अध्यक्ष भावनपुर को हटाने की मांग की, मौके पर मौजूद एस.डी.एम., ए.डी.एम. और एस.पी. देहात ने तुरंत नदीम पर मुकदमा पंजीकृत करा दिया

तथा थाना अध्यक्ष संजय कुमार को थाने से हटा दिया, तीसरी मांग कांती प्रसाद के परिवार को 25 लाख की सहायता राशि के लिए उन्होंने आश्वासन दिया है कि जिला अधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को पत्र भेज दिया जाएगा, इसके उपरांत समाज के सभी उपस्थित लोग व कार्यकर्ता संतुष्ट हुए तथा कांती प्रसाद का शव अंतिम संस्कार के लिए भेजा गया। इस अवसर पर प्रमुख रूप से कैंट विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल, भाजपा नेता गोपाल शर्मा, बलराज डूंगर, रोहतास पहलवान, विहिप के निमेंश वशिष्ठ, राजकुमार डूंगर, मधुबन पवार, बजरंग दल के अर्जुन राठी, गौरव गर्ग, अर्जुन सैनी, हिमांशु शर्मा व अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: