पंजाब में कोविड-19 मरीजों की रिकवरी दर हुई 78 प्रतिशत, राज्य में अब केवल 423 एक्टिव केस

पंजाब में कोविड-19 के मरीजों की रिकवरी दर बढ़कर 78 फीसदी हो गई है। स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने मंगलवार को कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना वायरस महामारी के मुकाबले के लिए पूरी तरह तैयार है, जिसके तहत स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने अप्रैल में 1,57,13,789 लोगों की जांच की और इनमें से 9,593 लोगों में कोरोना के लक्षण पाए गए थे, जिनको आगे प्रबंधन और नमूने लेने के लिए रेफर किया गया।

सिद्धू ने कहा कि राज्य में अब तक कोविड-19 के 1980 मामलों की पुष्टि की गई है और 52,955 व्यक्तियों की जांच की गई है, जिनमें से 48,813 व्यक्तियों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के 1980 मरीजों में से 1557 मरीज ठीक हो गए हैं, जो देश में मरीज़ों के ठीक होने की सबसे अधिक रिकवरी दर में से है। पंजाब में अब 423 एक्टिव केस ही बचे हैं। यहां 37 लोगों की मौत हुई है।

राज्य भर में ‘रिस्क स्ट्रैटीफाईड रैंडम सैंपलिंग’ करने की जरूरत है (यात्री, फ्रंट लाईन वर्कर, अन्य बीमारियों से पीड़ित लोग और घनी आबादी वाले इलाकों में रहने वाले लोग) और कोरोना वायरस के आगे फैलाव को रोकने के लिए उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों और व्यक्तियों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। इस बारे में सिविल सर्जनों को हिदायतें जारी की गई हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि नांदेड़ साहिब से लौटे 4218 व्यक्तियों में से 1252 व्यक्ति कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे। उन सभी को स्वस्थ घोषित करके घर भेज दिया गया है। पंजाब में ज्यादातर मामले बाहर के हैं

Leave a Reply

%d bloggers like this: