20 अप्रैल से चिन्हित क्षेत्रों में स-शर्त खुलेगा लॉकडाउन, करना होगा नियमों का सख्ती से पालन

 दिल्ली रिपोर्ट : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन के पहले चरण के अंतिम दिन देश को संबोधित करते हुए कहा कि लॉकडाउन को ३ मई तक बढ़ाया जा रहा है। अगले एक हफ्ते लॉकडाउन अधिक कठिन होगा। प्रत्‍येक जिले,  प्रत्‍येक थाने, प्रत्‍येक हॉटस्‍पॉट, हर राज्‍य की बारीकी से निगरानी की जाएगी। इस निगरानी के आधार पर ही 20 अप्रैल से कुछ जरूरी सेवाओं को खोलने का निर्णय लिया जाएगा। नए दिशा-निर्देश सरकार जल्‍द ही जारी करेगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अगर अगले एक हफ्ते में जिन इलाकों में कोरोना संक्रमण का एक भी मामला सामने नहीं आएगा, वहां कुछ शर्तों के साथ जरूरी सेवाओं को शुरू किया जाएगा। इसमें भी सोशल डिस्‍टेंसिंग का सख्‍ती से पालन करना अनिवार्य होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि अगले एक सप्ताह में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कठोरता और ज्यादा बढ़ाई जाएगी। 20 अप्रैल तक हर कस्बे,हर थाने,हर जिले,हर राज्य को परखा जाएगा, वहां लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है,उस क्षेत्र ने कोरोना से खुद को कितना बचाया है, ये देखा जाएगा। जो क्षेत्र इस अग्निपरीक्षा में सफल होंगे,जो हॉटस्‍पॉट में नहीं होंगे, और जिनके हॉटस्‍पॉट  में बदलने की आशंका भी कम होगी,वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है। इसलिए, न खुद कोई लापरवाही करनी है और न ही किसी और को लापरवाही करने देना है।कल इस बारे में सरकार की तरफ से एक विस्तृत गाइडलाइन जारी की जाएगी।

पीएम मोदी ने कहा कि 20 अप्रैल से चिन्हित क्षेत्रों में सीमित छूट का प्रावधान गरीब लोगों को ध्‍यान में रखकर किया गया है। वही मेरा बड़ा परिवार है। मेरी सर्वोच्‍च प्राथमिकताओं में, इनके जीवन में मुश्किल को कम करना है। प्रधान मंत्री गरीब कल्‍याण योजना के जरिये सरकार ने उनकी हर संभव मदद करने का प्रयास किया है। नई गाइडलाइंस में भी उनके हितों का पूरा ध्‍यान रखा गया है।

मोदी ने कहा कि रबि फसल की कटाई का काम जारी है। किसानों को कम से कम दिक्‍कत हो इसका ध्‍यान केंद्र व राज्‍य सरकारों द्वारा रखा जा रहा है। देश में दवा से लेकर राशन तक पर्याप्‍त भंडार है। सप्‍लाई चेन की बाधाएं लगातार दूर की जा रही हैं। हेल्‍थ इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के मोर्चे पर भी हम आगे बढ़ रहे हैं।

नोट : ताजातरीन ख़बरों के लिए अभी फॉलो करे NEWSACB7.COM फेसबुक इंस्टाग्राम यूट्यूब और ट्विटर। 

Leave a Reply

%d bloggers like this: