मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना उत्तराखंड की आर्थिक संकट दूर कर देगा साथ ही रोकेगा पलायन

उत्तराखंड न्यूज़: कोरोना महामारी से पूरा भारत जूझ रहा है। ऐसे मे भारत जैसे घनी अबादी वाले देश मे बड़े आर्थिक संकट की आशंका है इसे देखते हुए उत्तराखंड की त्रिवेन्द्र रावत सरकार ने एक लोक.कल्याणकारी योजना का शुभारंभ कर दिया है जिसके तहत प्रदेश के बेरोजगार युवा एवं प्रदेश के बाहरी राज्यों से आये प्रवासी को लाभ मिलेगा। पढ़े देहरादून से स्वप्निल सिन्हा की विशेष रिपोर्ट
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना प्रदेश सरकार द्वारा जनहित मे बढ़ाया गया एक अहम कदम है जहां कोरोना काल मे चारो तरफ मंदी का माहौल है और प्रदेश के युवा अपने भविष्य को लेकर चिंतित है ऐसे इस योजना के धरातल पर उतरते ही युवाओं के चेहरे खिल उठेंगे। इस योजना की खास बात है कि विनिर्माण में 25 लाख रूपये और सेवा क्षेत्र में 10 लाख रूपये तक की परियोजनाओं पर ऋण मिलेगा एवं साथ ही इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि राज्य के उद्यमशील एवं प्रवासी उत्तराखण्डवासियों को स्वरोजगार के लिए प्रोत्साहित करना।
भारत के उत्तर मे बसा एक छोटा सा राज्य उत्तराखण्ड जिसे देवभूमि के नाम से जाना जाता है। वैसे तो उत्तराखण्ड को प्रकृति ने अनेको संसाधन दिये है परन्तु फिर भी आज उत्तराखण्ड पलायन से जुझ रहा है। प्रदेश मे रोजगार के सीमित संसाधन के कारण लाखों की संख्या मे प्रदेशवासी रोजगार की तलास मे भारत के अन्य राज्यों मे पलायन कर रहे है। परन्तु अब कोरोना जिस गति से भारत के मुख्य शहारों मे फैल रहा है। ऐसे मे विभिन्न राज्यों मे रहने वाले उत्तराखण्डी प्रदेश वापस आ रहे है। अब ऐसे मे राज्य के सामने और चुनौती बढ़ गई है। प्रदेश मे पहले से ही युवाओं के बेरोजगारी का मुद्दा सामने आता रहा है वही अब लाखों बेरोजगार लोग प्रदेश मे वापस आ रहे है। कही ना कही प्रदेश सरकार से इसे देखते हुए एक ठोस कदम उठाने की उम्मीद जताई जा रही थी। .
कल 28 मई के दिन उत्तराखंड की त्रिवेन्द्र सिंह रावत सरकार ने प्रदेश के युवाओं के स्वरोजगार को देखते हुए एक लोक.कल्याणकारी योजना का शुभारंभ कर दिया है जिसके तहत प्रदेश के बेरोजगार युवा एवं प्रदेश के बाहरी राज्यों से आये प्रवासी को लाभ मिलेगा। इस खास योजना को मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के नाम से लांच किया गया। जिस योजना का शुभारंभ स्वयं मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश सचिवालय मे किया। उन्होने कहा कि यह योजना से प्रदेश के युवाओं की आर्थिक सम्सयाए दूर हो जाएगा।
भारत के लोगो मे कोरोना संक्रमण को लेकर भय का माहौल है और हो भी क्यू नां कोरोना जिस गति के साथ फैल रहा है यह एक प्रकार से सभी के लिए खतरे की घंटी जरूर है। यही कारण है की अपने राज्यों को छोड़ दूसरे राज्यों मे कार्य कर रहे प्रवासी अपने गृह राज्य मे जाने को बेताब है। वही कोरोना ने अपने जानलेवा संक्रमण का भय तो फैला ही रखा है साथ ही समान्य नौकरीपेशा एवं रोजगार करने वालों को तो एक बड़ा ही झकटा दे दिया है। ऐसे मे करोड़ों लोगो का रोजगार तो छिन ही गयाए साथ ही साथ अपनी जान बचाने के लिए लोग अपने घर बार छोड़ कर्मभूमि से जन्मभूमि की तरफ पलायन कर रहे है। ऐसे मे भारत जैसे घनी अबादी वाले देश मे बड़े आर्थिक संकट की आशंका है।
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत निर्माण में 25 लाख रूपये और सेवा क्षेत्र में 10 लाख रूपये तक की परियोजनाओं पर ऋण दिया जाएगाए इससे प्रदेश के युवा पीढ़ी के साथ हर वर्ग के लोगो को इसका फायदा मिलेगा। साथ ही यह योजना अब हमे ना सिर्फ रोजगार बल्कि स्वरोजगार के प्रति कदम बढाने के लिए प्रेरित करती है। वही यह योजना प्रधानमंत्री जी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को भी साकार करेगा। साथ ही इस योजना मे शैक्षिक अनिवार्यता ना रखने के कारण ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ उठा सकते है।
नोट : ताजातरीन ख़बरों के लिए अभी फॉलो करे newsacb7.com फेसबुक इंस्टाग्राम ट्विटर और यूट्यूब। 
अपने मोबाइल पर सबसे पहले नोटिफिकेशन पाने के लिए वेबसाइट में नीचे दिए गए Addtoscreen बटन पर क्लिक करे और पाए सबसे पहले तजा ख़बरों की नोटिफिकेशन आपके मोबाइल पर। 

Leave a Reply

%d bloggers like this: