चीनी सैनिको से लोहा लेते हुए भारतीय जवानो ने दी अपने प्राणो कि आहुति, आलोक पुरोहित, ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि

आलोक पुरोहित ने भारत की सीमा पर अपनी जान देने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि भारत देश की सीमा के अंदर आज हर नागरिक इसीलिए सुरक्षित है क्योंकि देश की सरहद पर हमारे सेना के जवान दिन और रात अपने परिवार से दूर रहकर इस देश की सुरक्षा के लिए अपना जीवन बिता देते हैं और जब भी कोई खतरा आता है तो हमारे सच्चे सिपाही अपने प्राणों की परवाह के बिना देश को हर हाल में बचाने का पालन करते हैं और इन्हीं कर्तव्य का पालन करते हुए शहीदों का बलिदान हम सबके लिए प्रेरणा है और आत्मसमर्पण की एक भावना है जो अपने जीवन से बढ़कर लोगों के जीवन को बचाने की है ऐसे सच्चे देशभक्तों के इस बलिदान को हम शब्दों में बयान नहीं कर सकते लेकिन हम सबको मिलकर एक फैसला करना होगा कि हम सब देशवासी भी विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार करें ।
और एक बार फिर से हम गांधी जी के बताए गए आदर्शों पर चलें तो यकीनन देश में ना गरीबी आएगी ना बेरोजगारी आएगी।
हम सब को पूरी तरह विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार कर देना चाहिए । यकीनन भारत देश एक शांति का देश है लेकिन हमें हर उस परिस्थिति के लिए तैयार भी रहना चाहिए जब बात हमारे देश की सुरक्षा की और जनता के प्राणों की रक्षा की हो ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: