उत्तराखंड रू वेतन व भत्तों में कटौती को लेकर “भाजपा और कांग्रेस विधायकों मे”….

उत्तराखंड: मे कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष के तरफ से उत्तराखंड के सभी विधायकों से अपील किया गया था कि कोरोना से जंग लड़ने के लिए प्रदेश के सभी विधायक अपने वेतन और भत्तों मे कटौती हेतु स्वीकृति प्रदान कराए।
आपको बता दे कि विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने द्वारा प्रदेश के सभी विधायकों से दोबारा अपील किया उसके बाद से उत्तराखंड के सत्ता मे बनी हुई भाजपा के तो तकरीबन सभी विधायकों ने अपने वेतन और भत्तों में 30 प्रतिशत कटौती को लेकर विधानसभा को सहमति दे दी है। परन्तु कांग्रेस के विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष के अपील को नजरअंदाज कर दिया है। साथ ही भाजपा पर यह आरोप भी लगाया कि भाजपा सरकार अपनी मनमानी कर रही है।
उत्तराखंड मे शासन कर रही भाजपा की सरकार ने इस विधायकों के वेतन और भत्तों में 30 प्रतिशत कटौती को लेकर विपक्ष को विश्वास में नहीं लिया है ना ही सरकार द्वारा कोई उचित पहल की गई हैए ऐसे मे कांग्रेस द्वारा वेतन भत्तों में कटौती की सहमति नहीं दिया जाएगा। – डॉ0 इंदिरा हृदयेश (नेता प्रतिपक्ष) उत्तराखंड
विधानसभा अध्यक्ष के अनुरोध के बाद मैने भी प्रदेश भाजपा के सभी विधायकों से अपील किया कि वे कोविड फंड में योगदान देने के लिए वेतन कटौती को लेकर अपनी मंजूरी अवश्य दें। इस अपील के बाद अब भाजपा के लगभग सभी विधायकों ने अपनी सहमति दे दी है। – बंशीधर भगत (प्रदेश अध्यक्ष) भाजपा
विधानसभा अध्यक्ष एवं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के दुबारा अनुरोध के बाद इसका असर दिखने लगा। वही सूत्रों के मुताबिक भाजपा के लगभग सभी विधायकों की सहमति दे दी है। साथ ही प्रदेश के निर्दलीय विधायकों ने भी अपनी सहमति दे दी है। पद उसके बाद भी कांग्रेस के किसी विधायक ने अभी तक अपनी सहमति जाहिर नहीं की है। वही विपक्षी विधायकों पर विधानसभा अध्यक्ष के दूसरी बार अनुरोध करने के बाद भी फिलहाल असर नहीं देेखा जा रहा है। साथ ही कांग्रेस तो इस विषय को लेकर भाजपा सरकार के खिलाफ अपनी नाराजगी भी दर्ज करा रही है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: