दो दिन में दिल्ली तब्लीग़िज़ामात से जुड़े कोरोना पॉजिटिव 650 मामले आये सामने

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस के 647 पॉजिटिव मामले तबलीगी जमात के कार्यक्रम से जुड़े हैं. ये मामले 14 राज्यों में फैले हैं।

दिल्ली : पिछले दो दिनों में दिल्ली के निजामुद्दीन (Nizamuddin) स्थ‍ित तब्लीगी जमात (Tabligh Jamaat) के धार्मिक कार्यक्रम से जुड़े कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित करीब 650 मामले सामने आए हैं. सरकार ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस के 647 पॉजिटिव मामले तबलीगी जमात के कार्यक्रम से जुड़े हैं. ये मामले 14 राज्यों में फैले हैं. कोरोना वायरस को लेकर जारी चेतावनी के बावजूद दिल्ली के निजामुद्दीन स्थ‍ित तब्लीगी जमात के मुख्यालय में मार्च में आयोजित कार्यक्रम में देश और दुनिया के कई अन्य देशों से हजारों लोग शामिल हुए थे।

उसके बाद कोरोना वायरस के संक्रमण पर रोक लगाने के लिए सरकार द्वारा जारी सोशल डिस्टेंसिंग के दिशानिर्देशों की अवहेलना करते हुए जमात के कई सदस्य ने देशभर में कई इलाकों में गए.

स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने नियमित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पिछले दो दिनों में तबलीगी जमात के 647 लोग कोरोना से संक्रमित पाये गये हैं. ये लोग असम, अंडमान निकोबार, दिल्ली, जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश से हैं. उल्लेखनीय है कि मार्च के अंतिम सप्ताह में तबलीगी जमात द्वारा दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में आयोजित एक धार्मिक आयोजन में देश के कई राज्यों और विभिन्न देशों के लोगों ने हिस्सा लिया था.

अग्रवाल ने कोरोना के संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने के लिये लागू देशव्यापी बंद (लोकडाउन) को कारगर उपाय बताते हुये कहा कि संक्रमण के मामलों में जो बढ़ोतरी पिछले कुछ दिनों में हुयी है, उसका मुख्य कारण एक खास घटना रही. अग्रवाल ने कहा कि अगर इस घटना को छोड़ दें तो लॉकडाउन और इस दौरान सामाजिक मेलजोल से दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) के उपायों के कारण नये मामलों की गति मे इजाफा नहीं हो रहा था. इसके मद्देनजर अग्रवाल ने देशवासियों से अपील की, ‘‘हम सभी को यह समझना होगा कि हम एक संक्रामक बीमारी से जूझ रहे हैं, ऐसे में इससे निपटने के उपायों का पालन में करने में मामूली सी चूक हमारे सारे प्रयासों को व्यर्थ साबित कर देती है.”

उधर दिल्ली में कोरोनावायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 384 हो गई है. इनमें जिसमें से तबलीगी जमात के 259 मरीज शामिल हैं. दिल्ली में जारी लॉकडाउन के बीच कोरोनावायरस के खिलाफ जंग लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस की जिसमें उन्होंने बताया कि दिल्ली में मरकज के मरीजों की वजह से कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी जरूर हुई लेकिन फिर भी स्थिति नियंत्रण में बनी हुई है. पिछले 24 घंटों में दिल्ली में कोरोनावायरस के 91 नए मामले सामने आए हैं. सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अभी भी कोरोनावायरस कम्युनिटी स्टेज में नहीं पहुंचा है.

वहीं शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों को मुताबिक अब तक 2301 लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके हैं. वहीं, मरने वालों की संख्या 56 पहुंच गई. 157 लोगों का उपचार हो चुका है. पिछले 24 घंटे में 336 नए मामले सामने आए हैं. गुरुवार रात को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक कोरोनावायरस से 53 लोगों की मौत हो चुकी थी. वहीं, 2069 लोगों को इससे संक्रमित बताया गया था. बता दें कि देश में कोरोना संकट को लेकर 14 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: